• my poetries
    171
    0

    उनकी अदाओं का क्या कहना… बुलाकर पास हाय रूठ जाना उनका। दबाकर होंठ यूँ ही मुश्कुराना उनका। बड़ी नज़ाकत से इतराना उनका। उगलियों से जुल्फें संवारना ...
  • my poetries
    110
    0

    कैसी है यह दुनियाँ रे। लोग यहाँ बानियाँ रे ॥ लाभ लाभ करते हैं । कोई लव नहीं करते हैं॥ आँधी वो तुफनो में। पास नहीं ...
  • my poetries
    107
    0

    लगता नहीं है दिल मेरा इस जहान में। जब से जुदा हुई है जान मेरी मेरी जान से॥ कोई गम का नहीं गम था मुझे गम-ए-जहान ...
  • my poetries
    94
    0

    खुश हूं मैं तेरे प्यार के बिना भी अपनी बोतल के साथ डूब जाऊंगा बोतल में तेरी याद आने के बाद कह दो मुझे शराबी एक ...