• 183
    0

    मेरे एक तरफ़ा मुहब्बत की बेकरारी मत पूछो। क्या-क्या छोड़ आया हूँ पीछे यह मत पूछो। वो मेरे ख़्वाबगाह से ज़रा बाहर क्या निकले। ज़माना पीछे ...